Big News: राज्य में बदलेगी सरकारी कर्मियों के सेवानिवृत्ति की आयु सीमा: अब 65 साल तक नौकरी कर सकेंगे

Big News: राज्य में बदलेगी सरकारी कर्मियों के सेवानिवृत्ति की आयु सीमा: अब 65 साल तक नौकरी कर सकेंगे

MP News: भोपाल लोकसभा चुनाव से पहले प्रदेश सरकार अपने कर्मचारियों को बड़ी सौगता देने जा रही है। प्रदेश सरकार सरकार कर्मियों की सेवानिवृत्ति की आयु सीमा में बढ़ोतरी करने जा रही है। प्रदेश में सरकारी कर्मचारी अभी 62 वर्ष की आयु में सेवानिवृत्‍त हो रहे हैं। सरकार इसमें 3 वर्ष की बढ़ोतरी करने जा रही है। यानी अब सरकारी कर्मचारी 65 वर्ष की आयु में सेवानिवृत्‍त होंगे।

मध्‍य प्रदेश की मोहन सरकार रिटायरमेंट की आयुसीमा में बदलाव करने जा रही है। यह बदलाव 6 साल बाद होगा। इसके लिए फाइल चल रही है। सरकार के इस फैसले से प्रदेश के 4 लाख से ज्‍यादा सरकारी अधिकरियों-कर्मचारियों को फायदा होगा।

बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री के रुप में शपथ लेने के बाद डॉ. मोहन यादव ने पहली बैठक में संकल्प पत्र 2023 में शासकीय सेवकों से जुड़े मसलों को पूरा करने के निर्देश दे दिए थे। 11 जनवरी को राज्य कर्मचारी कल्याण समिति के अध्यक्ष (कैबिनेट दर्जा) रमेश शर्मा ने मप्र के शासकीय सेवकों की सेवानिवृत्ति की आयुसीमा में एकरूपता लाने के लिए आयु 62 से बढ़ाकर 65 करने के लिए नोटशीट भेजी। साथ ही उन्होंने पदोन्नति नहीं होने की वजह से सरकारी विभागों में कैडर गड़बड़ाने और खाली पदों का भी जिक्र किया।

सेवानिवृत्ति की आयुसीमा बढ़ाने की पहल मुख्यमंत्री कार्यालय ने की है। सीएम सचिवालय से मिले प्रस्‍ताव पर सामान्य प्रशासन विभाग ने वित्त विभाग से अभिमत मांगा है। वित्त से अभिमत आने के तत्काल बाद सेवानिवृत्ति में एकरूपता के प्रस्ताव को कैबिनेट में लाया जा सकता है।

बताते चले कि प्रदेश में अभी तक प्राध्यापक, चिकित्सक, स्टाफ नर्स एवं अन्य सेवाओं में सेवानिवृत्ति की आयुसीमा 65 साल है। वहीं, बाकी के लिए यह सीमा 62 वर्ष है। अब सभी कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति की आयु 65 साल करने की तैयारी है। इससे पहले 2018 के विधानसभा चुनाव के पहले जून में रिटायरमेंट की आयुसीमा 60 से बढ़ाकर 62 साल की गई थी।व में भाजपा ने संकल्प पत्र में सेवानिवृत्ति में एकरूपता करने का वादा किया था, जिसे पूरा किया जा रहा है।

Updated: February 2, 2024 — 4:11 pm