CBSE ने बदलाव किया एग्जामिनेशन परिणाम अब 10वीं-12वीं के छात्रों को नहीं मिलेगा डिवीजन और डिस्टिंक्शन

CBSE ने बदलाव किया एग्जामिनेशन परिणाम अब 10वीं-12वीं के छात्रों को नहीं मिलेगा डिवीजन और डिस्टिंक्शन

CBSE 10th 12th Board Exam 2024 Big Update: सीबीएसई ने कहा है कि अब 10वीं, 12वीं के नतीजे में कोई डिविजन या डिस्टिंक्शन नहीं दिया जाएगा। इसके अलावा नतीजे में परेसेंटेज भी नहीं होगा।

एनआईबी हिंदी: केंद्रीय माध्यमकि शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने बोर्ड परीक्षा 2024 की डेटशीट जारी करने से पहले बड़ा बदवाव किया है। बोर्ड ने 10वीं, 12वीं के नतीजों में डिविजन और डिस्टिंक्शन को खत्म कर दिया है। अब नतीजे में परसेंटेज भी नहीं दिया जाएगा। नई एजुकेशन पॉलिसी 2020 को लागू करने के लिए शिक्षा में कई तरह के बदलाव किए जा रहे हैं।

बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट cbse।gov।in पर जारी नोटिफिकेशन के अनुसार, साल 2024 में 10वीं और 12वीं सीबीएसई बोर्ड परीक्षा में किसी भी स्टूडेंट्स को डिवीजन, रैंक या एग्रीगेट मार्क्स नहीं दिए जाएंगे। CBSE के एग्जाम कंट्रोलर संयम भारद्वाज ने कहा कि अब कोई ओवरऑल डिवीजन, डिस्टिंक्शन या  मार्क्स को एग्रीगेट यानी सभी विषयों में प्राप्त कुल मार्क्स का योग नहीं दिया जाएगा।

हायर एजुकेशन या नौकरी के लिए कैसे निकालेंगे परसेंटेज

भारद्वाज ने कहा कि अगर किसी छात्र ने 5 से अधिक विषयों में परीक्षा दी है तो उसे प्रवेश देने वाला इंस्टीट्यूट या एंप्लोयर उसके लिए सर्वश्रेष्ठ पांच विषयों पर विचार करने का फैसला कर सकता है।’ भारद्वाज ने कहा कि बोर्ड अंक प्रतिशत की गणना नहीं करता, उसकी घोषणा नहीं करता या सूचना नहीं देता। उन्होंने कहा कि अगर हायर एजुकेशन या रोजगार के लिए मार्क्स के प्रतिशत की जरूरत है तो इंस्टीट्यूट या नौकरी देने वाली कंपनी खुद ही मार्क्स की गणना कर सकती है।

Updated: December 2, 2023 — 1:52 pm