Home Google News Chhattisgarh Jobs Trending Topics Today Raipur Web Stories

CG ब्रेकिंग: फ़र्ज़ी कॉल सेंटर चलाकर लोगों से ठगी करने वाले 17 युवतियों सहित 27 आरोपी गिरफ्तार

रायपुर-फ़र्ज़ी कॉल सेंटर चलाकर लोगों से ठगी करने वाले 17 युवतियों सहित 27 आरोपी गिरफ्तार

छत्तीसगढ़ के कवर्धा पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए टॉवर लगाने के नाम पर फर्जीवाड़ा करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने लड़के लड़कियों सहित 27 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। ये सभी आरोपी कोलकाता में बैठकर लोगों को टॉवर लगाने का लालच देखकर अपना शिकार बनाते थे। पुलिस ने इनके कब्जे से मोबाइल, एटीएम और बैंक खाते सहित ठगी का सामान जब्त किया है।

दरसअल, थाना कुण्डा जिला कबीरधाम में पीड़ित देवदत्त निवासी रांपा थाना कुण्डा जिला कबीरधाम ने ठगी की शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायत में बताया था कि रिलायंस जिओ एवं एयरटेल मोबाईल टॉवर लगाने के नाम पर उसके साथ 22 लाख रूपये लेकर ठगी की गई है। शिकायत के बाद पुलिस ने 420 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू की।

एसपी डॉ. लाल उमेद सिंह पुलिस अधीक्षक कबीरधाम, मनीषा ठाकुर ASP जांच कर आरोपियों की गिरफ्तारी के निर्देश दिए गए। जांच के दौरान ज्ञात हुआ कि आरोपियो के विरूद्ध जिला रायगढ़ के थाना पुसौर में अपराध क्रमांक 357/22 धारा 420, 120 (बी), 34 भादवि. 66 (डी) आईटी एक्ट के मामला दर्ज है। कवर्धा पुलिस ने रायगढ पुलिस से समन्वय स्थापित कर वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गनिर्देशन पर थाना कुण्डा से टीम गठित कर रायगढ़ में गिरफ्तार आरोपियो से लगातार पूछताछ की गई। गिरोह के मुख्य सरगना वरूण सिंह एवं सलोनी प्रिया द्वारा बताया गया कि उनके द्वारा कोलकाता में एक फर्जी कॉल सेंटर खोला गया जिसमें कुल 27 लोग कार्य करते थे। इन सभी को लोगों से कैसे बात कर अपने झांसे में लेना है की ट्रेनिंग दी गई थी एवं 10-10 मोबाईल सीम एवं कीपेड वाली सस्ते मोबाईल दिये गये थे। सभी सीम फर्जी दस्तावेज के आधार पर लिए गये थे।

गिरोह के सभी सदस्य इन मोबाईल नंबरो से देश के विभिन्न राज्यों के लोगो को कॉल कर आपके एरिया में मोबाईल कंपनी का टॉवर लगाये जाना है जिसके लिए 10×10 का खाली प्लाट की आवश्यकता है। जमीन उपलब्ध कराये जाने पर 150000/-रूपये नगदी एवं 10 से 12 हजार रूपये प्रति माह किराया के साथ परिवार के एक सदस्य को नौकरी दी आयेगी का लालच देते थे। ग्राहक द्वारा रूची लेने पर व्हाटसअप के द्वारा उससे जमीन के दस्तावेज अनुबंध पत्र आदि मांग कर उसे कंपनी से संबंधित कुछ फर्जी दस्तावेज भेजे जाते थे।

इसके बाद प्रोसेसिंग फिस के नाम पर पैसे की मांग की जाती थी। इस तरह से लोगो को अपने झांसे में लेकर ठगी को अंजाम दिया जाता था। जप्त दस्तावेजों एवं मोबाईल नंबरो का अवलोकन पर उक्त आरोपियों द्वारा थाना कुण्डा के अपराध क्रमांक 268 / 22 में अपराध कबूल करने एवं संलिप्तता पाये जाने से विधिसंगत् कार्यवाही कर कुल 27 आरोपियों (जो बिहार एवं कोलकता राज्य के निवासी) को

न्यायालय से प्रोडेक्शन वारंट प्राप्त कर न्यायालय पेश कर गिरफ्तार किया गया। पुलिस रिमांड लेकर सभी से पृथक- पृथक पुछताछ आरोपियो द्वारा उपयोग किये गये 9 बैंक खातो को सीज किया गया है। 4 बैंक पास बुक ATM कार्ड एवं कॉल सेंटर में कार्य करने वाले आरोपियो की उपस्थिति पंजी व देश के विभिन्न राज्यो के लोगो से ठगी की रकम के संबंध में संधारित रजिस्टर जप्त किया गया है। विधिसंगत कार्यवाही पूर्ण कर रिमांड पर जेल भेजा गया।

इन आरोपियों की हुई गिरफ्तारी

रिंकी साव पिता नारायण साव पाल मछली बाजार कोलकाता, प्रिंयका चौधरी पिता जितेन्द्र चौधरी, कामनी पोद्दार पिता राजेश पोद्दार, रोहित साव पिता शिावकुमार साव, पिंकी राजभर पिता लक्खी नारायण राजभर, पूजा सिंह पिता महेश सिंह, अनिल साह पिता अजय साह, पूजा शर्मा पिता विनोद शर्मा, गोपाल कण्डार पिता भोलाई कण्डार, समसुद हुसैन पिता मनोब्बर हुसैन, रामकुमार साव पिता शिवकुमार साव, बीना साव पिता सीताराम, विशाल सेठ पिता उत्तम सेठ, पूजा दास पिता सुकुमार दास, जुली सिंह पिता भरत सिंह, स्नेहा पाल पिता दुलालचंद पाल, पूजा राय पिता रंजित राय, मधु यादव पिता दीपक यादव, अंकू गुप्ता पिता संजय गुप्ता, पूजा पासवान कोलकाता, इंन्द्रोजित दास पिता संजीव दास, आसिमा राय पिता मोह. मंसूर अली कोलकाता, सलोनी प्रिया सिंह, वरूण सिंह उर्फ मयंक सिह पिता मंगल सिंह, मधु सिंह कोलकाता, रजनीश सिंह, दीपिका मंडल पिता सपन मंडल को गिरफ्तार किया गया है. सभी आरोपी कोलकाता के रहने वाले हैं.

Join WhatsAppJoin Telegram