December 7, 2022, 8:10 pm
Homeछत्तीसगढ़CG: मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में कलेक्टर्स-एसपी कॉन्फ्रेंस शुरू, सट्टे को लेकर सख्त...
advertisementspot_img
advertisement

CG: मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में कलेक्टर्स-एसपी कॉन्फ्रेंस शुरू, सट्टे को लेकर सख्त कानून एवं चिटफंड को लेकर यह कहा मुख्यमंत्री ने

advertisement

रायपुर-मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में शनिवार को कलेक्टर्स-एसपी कॉन्फ्रेंस शुरू हो गई है। इसमें पहुंचे मुख्यमंत्री ने औपचारिक बातचीत के बाद पहला सवाल चिटफंड कंपनियाें के खिलाफ कार्रवाई पर ही पूछा। डीजीपी अशोक जुनेजा ने उन्हें ब्रीफ किया लेकिन मुख्यमंत्री अब तक की कार्रवाई से संतुष्ट नहीं दिखे। उन्होंने चिटफंड कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई में तेजी लाने और निवेशकों का पैसा लौटाने का निर्देश दिया है।

बहुप्रतिक्षित कलेक्टर्स-एसपी कॉन्फ्रेंस राजधानी रायपुर के न्यू सर्किट हाउस में शुरू हुआ है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के वहां पहुंचने पर मुख्य सचिव अमिताभ जैन, अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, डीजीपी अशोक जुनेजा सहित वरिष्ठ अफसरों ने उनका स्वागत किया। उसके बाद मुख्यमंत्री की सर्वोच्च प्राथमिकता वाले बिंदुओं पर बातचीत शुरू हुई। पहला बिंदु चिटफंड कंपनियां ही थीं। डीजीपी अशोक जुनेजा ने प्रदेश भर का डेटा सामने रखा। उन्होंने कार्यवाही और निवेशकों की धन वापसी का ब्यौरा पेश किया। मुख्यमंत्री ने इसे बहुत धीमा बताया। उन्होंने कहा, इसमें और तेजी लाने की जरूरत है। न्यायालय से शीघ्र कुर्की कराकर चिटफंड कंपनियों की संपत्ति नीलाम कर निवेशकों का पैसा वापस करने के निर्देश दिए। उसके बाद नशे के अवैध कारोबार की बात चली। डीजीपी ने अब तक हुई कार्रवाई की जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने कहा, इसके लिए तस्करों और विक्रेताओं का नेटवर्क तोड़ना होगा। पुलिस नशीले पदार्थों की तस्करी को जड़ से खत्म करे। नशे के नेटवर्क को जड़ से ख़त्म करने के लिए सख्त कार्रवाई में अगर अन्य राज्यों से समन्वय जरूरी है तो वह भी किया जाए। इसके लिए सोर्स तक पहुंचकर कार्रवाई करें। विभिन्न बिंदुओं पर यह बातचीत दिन भर चलनी है।

जुए और सट्टे पर लगाम सहित सख्त कार्यवाही

राज्य में जुए और सट्टे की रोकथाम और आरोपियों पर सख्त कार्रवाई के लिए सरकार कड़ा कानून लाने पर विचार कर रही है। कलेक्टर-एसपी कांफ्रेंस के दौरान इस संबंध में निर्देश दिए हैं। दरअसल, वर्तमान में जो कानून है, उससे जुआरी और सटोरिये थानों से कुछ ही देर में मुचलके पर छूट जाते हैं। सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि ऑनलाइन सटोरियों और जुआरियों पर सख्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने अधिकारियों से सख्त लहजे में पूछा कि जुए सट्टे पर कब तक रोक लगाएंगे?

दोपहर बाद एसपी लौट जाएंगे, कलेक्टर्स कल भी रहेंगे

बैठक में प्रदेश के सभी संभाग आयुक्त, आईजी, कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक शामिल हैं।इनमें से अधिकांश अधिकारी देर रात तक राजधानी पहुंच चुके थे। शनिवार को दोपहर के भोजन के बाद पुलिस अधिकारियों को लौट जाने की अनुमति दी गई है। दोपहर 2.30 बजे भोजन के बाद आयोजित समीक्षा बैठक में सभी कलेक्टर्स के साथ संभागीय आयुक्त, सीईओ जिला पंचायत और आयुक्त नगर निगम उपस्थित रहेंगे। इसके अगले दिन 9 अक्टूबर को सुबह 9.30 बजे से समीक्षा बैठक का नया दौर शुरू होगा। इसके दिन भर चलने की संभावना है।

अफसरों को नया टास्क मिलेगा

बताया जा रहा है, इस बैठक में मुख्यमंत्री अगले साल तक के लिए कलेक्टरों और एसपी को नये टास्क देने वाले हैं। इसमें कानून-व्यवस्था और लोक व्यवस्था का मुद्दा मुख्य होगा। रायपुर में यह कलेक्टर्स-एसपी कॉन्फ्रेंस सितम्बर महीने में ही होनी थी, लेकिन गणेश विसर्जन और नये जिलों के उद्घाटन की वजह से इसे टाल दिया गया था। पिछले साल 21-22 अक्टूबर को रायपुर में कलेक्टर्स कॉन्फ्रेंस हुई थी।

दोपहर बाद बसना के गढ़फुलझर भी जाएंगे मुख्यमंत्री

अधिकारियों ने बताया, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शनिवार को दोपहर बाद महासमुंद जिले के विकासखंड बसना में गढ़फुलझर गांव जाएंगे। उनको वहां रामचण्डी दिवस कार्यक्रम में शामिल होना है। मुख्यमंत्री वहां से देर शाम रायपुर लौट आएंगे।

advertisement
advertisement
advertisement
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments

advertisement
advertisement
advertisement

Most Popular

Recent Comments

advertisement
%d bloggers like this: