January 16, 2022, 11:16 pm
Homeछत्तीसगढ़CG: छूटे हुए बच्चों एवं फ्रंटलाइनर्स के लिए 14 एवं 15 जनवरी...
advertisementspot_img
advertisement
advertisement

CG: छूटे हुए बच्चों एवं फ्रंटलाइनर्स के लिए 14 एवं 15 जनवरी को होगा विशेष टीकाकरण अभियान

advertisement

सतीश नेताम/बलौदाबाजार-कलेक्टर सुनील कुमार जैन के निर्देश पर टीकाकरण के शत प्रतिशत लक्ष्य को हासिल करने के उद्देश्य से जिले में 14 एवं 15 जनवरी को विशेष टीकाकरण अभियान का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें अब 15 से लेकर 18 वर्ष के छुटे हुए छात्र छात्राओं एवं गांव में रहनें वाले शाला त्यागी बच्चों का टीकाकरण को शत प्रतिशत पूर्ण करनें का लक्ष्य रखा गया है। ऐसे लक्षित हितग्राही अपने गांव में पूर्व से निर्धारित स्कूल जिसे टीकाकरण केंद्र बनाया गया है वहां पहुँच कर लाभ ले सकतें है। शिक्षकों को इसकी जानकारी सभी छात्रों तक6 पहुँचाने की जिम्मेदारी दी गयी है। इसी तरह बूस्टर डोज के लिए भी दो दिनों विशेष अभियान चलाया जा रहा है जिसमें खास कर फ्रंटलाइनर्स एवं 60 वर्ष से अधिक उम्र के पात्र हितग्राहियों का शत प्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया है। फ्रंटलाइनर्स में स्वास्थ्य, राजस्व,पुलिस,पंचायत,महिला बाल विकास विभाग के कर्मचारी एवं अधिकारी गण शामिल है। कलेक्टर श्री जैन ने अपील जारी करतें हुए कहा कि राजस्व विभाग से जुड़े पटवारी,आर आई,कोटवार एवं अन्य मैदानी अमला जैसे सचिव,करारोपण अधिकारी, एडीईओ,मितानिनी,आंगनबाड़ी कार्यकर्ता,नर्स 2 दिनों के भीतर बूस्टर डोज लगवा लेवें। उन्होंने आज एक पत्र निकालकर संबधित विभागों के जिला अधिकारियों को अनिवार्य रूप टीकाकरण कराने के निर्देश दिए है। बुस्टर डोज की व्यवस्था अभी केवल जिला हॉस्पिटल एवं सभी विकासखंड मुख्यालय में स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में की गयी है।

सीएचएमओ डॉ सोनवानी ने बुस्टर डोज लगा के दिया संदेश
जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ खेमराज सोनवानी ने एक अच्छी पहल करते हुए अपना एहतियाती डोज़ का टीकाकरण प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रिसदा में करवाया। साथ हीं उन्होंने अपील जारी करतें हुए कहा कि जिलें में टीकाकरण की गति काफी कम है। जिससे आने वाले दिनों में और अधिक समस्या हो सकती है। क्योंकि दिनों दिन कोविड का संक्रमण बढ़ रहा है ऐसे में अपने एवं अपनों की सुरक्षा के लिए टीकाकरण अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि जिले में टीकाकरण में और तेज़ी लाने की आवश्यकता है। जिसमें जन समुदाय की सहभागिता जरूरी है। ऐसे में जिले स्तर से स्वास्थ्य विभाग के किसी अधिकारी का जन समुदाय के बीच जाकर टीकाकारण करवाना जन सामान्य को प्रेरित करने के लिए अच्छा प्रयास हो सकता है। गौरतलब है कि जिले में अभी तक 18 साल से अधिक वाले 80 प्रतिशत लोगों ने टीके की पहली डोज़ और 51 प्रतिशत लोगो ने दोनों डोज़ लिए है। जबकि 70 प्रतिशत बच्चों को टीका लग चुका है। इस दौरान रिसदा केंद्र के प्रभारी अविनाश केसरवानी भी उपस्थित थे।

advertisementspot_img
advertisementspot_img
advertisementspot_img
advertisementspot_img
advertisement
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments

advertisement
advertisement
advertisement

Most Popular

Recent Comments

advertisement
%d bloggers like this: