Home Google News Chhattisgarh Jobs Trending Topics Today Raipur Web Stories

छत्तीसगढ़ की ज्योति मौर्य: मजदूर पति ने पढ़ा लिखा कर बनाया शिक्षिका, बिना तलाक दिये दूसरे पुरूष के साथ फरार

छतीसगढ़ की ज्योति मौर्य: मजदूर पति ने पढ़ा लिखा कर बनाया शिक्षिका, बिना तलाक दिये दूसरे पुरूष के साथ फरार

उत्‍तर प्रदेश की एसडीएम ज्‍योति मौर्य इन दिनों काफी चर्चा में हैं। पति से बेवफाई के बाद ज्‍योति से पति से तलाक के लिए कोर्ट में आवेदन दे रखा है। इस प्रकरण के उजागर होने के बाद देशभर में ऐसे मामले सामने आ रहे हैं।

कोरबा: उत्तर प्रदेश की बरेली एसडीएम ज्योति मौर्य (Jyoti Maurya) की तरह अब छत्तीसगढ़ की उर्जाधानी कोरबा में भी एक ऐसा मामला निकल कर सामने आया हैं। जहां मजदूर पति ने मजदूरी कर अपनी पत्नी को शिक्षिका बनाया। वहीं शिक्षिका बनने व दो बेटी होने के बाद भी पत्नी ने उससे बेवफाई करते हुए पर पुरुष से संबंध बना संतान पैदा कर ली। परेशान पति ने जिला शिक्षा अधिकारी से कार्यवाही के लिए गुहार लगाई है।

उत्तर प्रदेश की बरेली एसडीएम (SDM Jyoti Maurya) ज्योति मौर्य की कहानी देशभर में चर्चित हुई थी। ज्योति मौर्य के पति आलोक मौर्य सफाई कर्मी है। उन्होंने अपने पत्नी को शादी के बाद पढ़ा लिखा कर एसडीएम बनाया था। आलोक मौर्य व ज्योति मौर्य की तरह उनकी भी दो बेटियां है। उसके बाद ज्योति मौर्य का प्रेम प्रसंग गाजियाबाद में पदस्थ होमगार्ड के कमांडेंट मनीष दुबे से शुरु हो गया।

आलोक मौर्य ने इसकी शिकायत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व डीजी होमगार्ड से कर कार्रवाई की मांग की थी। इसी तर्ज पर कोरबा में भी एक मामला सामने आया है। यहां 38 वर्षीय युवक शांति कुमार कश्यप पिता रघुनाथ प्रसाद कश्यप निवासी हाउसिंग बोर्ड कालोनी बालको नगर बालकों प्लांट में ठेका कर्मी है। उसकी शादी 6 मई 2011 को हुई थी। शादी के बाद उसकी दो संताने भी है। उसकी दोनों संताने बेटियां है।

Join WhatsAppJoin Telegram