November 28, 2021, 5:20 pm
Homeभारतक्या आप जानते हैं ऑक्टोपस के पास होता है 9 दिमाग 3...
advertisementspot_img
advertisementspot_img
advertisementspot_img
advertisementspot_img

क्या आप जानते हैं ऑक्टोपस के पास होता है 9 दिमाग 3 दिल? पढ़िए इंटरेस्टिंग खबर

advertisement

दुनिया में कई ऐसे अजीबोगरीब जीव हैं जो अपनी अनोखी खासियतों के लिए जाने जाते हैं। जब दिमाग की बात आती है तो लिस्ट में सबसे पहला नाम हम इंसानों का आता है क्योंकि हम अपने मस्तिष्क में रखे इस मैकेनिज्म का बहुत ही अच्छे से इस्तेमाल करना जानते हैं। हालांकि ऐसा बिल्कुल नहीं है कि अन्य प्राणियों में दिमाग नहीं होता, आपको जानकर हैरानी होगी कि खारे पानी में रहने वाले ऑक्टोपस के पास एक या दो नहीं बल्कि 9 दिमाग होते हैं।

जी हां, हो सकता है आपको यह पहले ही पता हो लेकिन आज हम आपको यह बताने वाले हैं कि आखिर ऑक्टोपस अपने इतने दिमागों का इस्तेमाल कैसे करता है, 9 दिमाग होने के बाद भी वह इंसानों से बेहतर क्यों नहीं है? यह जानकारी आपके लिए इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि यह सवाल ‘कौन बनेगा करोड़पति’ (केबीसी 13) में भी पूछा जा चुका है। 18 नवंबर को हॉटसीट पर बैठे एक कंटेस्टेंट से अमिताभ बच्चन ने पूछा था कि ऑक्टोपस के कितने ब्रेन होते हैं?

ऑक्टोपस, कुदरत के उन अनोखे जीवों में से एक है जो अपने रूप-रंग को लेकर इंसानों में काफी चर्चित होता है। ऑक्टोपस के पास सिर्फ 9 ब्रेन ही नहीं बल्कि 8 भुजाएं भी होती हैं। इसके पास 2 से अधिक आंखें भी हो सकती हैं। इसके अलावा ऑक्टोपस का खून भी नीला होता है। वैज्ञानिकों का तो यह भी मानना है कि समुद्र में रहने वाला ये जीव कलर ब्लाइंड भी है। हालांकि यह 0.3 सेकंड से भी कम वक्त में खुद का रंग बदल सकता है।

आपको जानकर हैरानी होगी कि कई प्रजाति के ऑक्टोपस अपना आकार भी बदल सकते हैं और यह छोटी सी छोटी जगह से भी निकल सकते हैं। क्या आपको पता है ऑक्टोपस के 3 दिल भी होते हैं। इन तीनों का अलग-अलग काम है। इनमें से एक पूरे शरीर में खून पंप करता है तो दूसरा ऑक्सीजन-रहित खून को पूरे शरीर से इकट्ठा करके उसे दोनों गिल्स और सिस्टमिक दिल तक पहुंचाता है। ये अनोखा जीव अपने आप में एक रहस्य है।

अब आते हैं ऑक्टोपस के ब्रेन पर, इसके पास 9 दिमाग जरूर होते हैं लेकिन उसका मुख्य ब्रेन एक ही होता है। अपने उसी एक ब्रेन से ऑक्टोपस को सोचने, समझने और खतरा होने पर तत्काल फैसला लेने की शक्ति मिलती है। बाकी के 8 ब्रेन मुख्य दिमाग के सहायक होते हैं, जो उसके मुताबिक काम करते हैं। ये आठों ब्रेन ऑक्टोपस की 8 भुजाओं में होते हैं। सभी भुजाएं उन्हीं ब्रेन से कंट्रोल होती हैं। कई बार मुख्य ब्रेन के कहने पर सभी भुजाएं एक साथ काम करती हैं।

जैसा कि हमने पहले भी बताया कि ऑक्टोपस का खून अन्य जीवों की तरह लाल नहीं बल्कि नीला होता है। ऑक्टोपस के खून में कॉपर यानी तांबे के साथ साइनोग्लोबिन होता है, जो हम इंसानों के खून की तरह ही काम करता है। तांबे की वजह से ऑक्टोपस का खून नीले रंग का होता है, हालांकि इससे ऑक्टोपस को नुकसान ही होता है और वह जल्दी थक जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इंसानी खून में आयरन के मुकाबले ऑक्टोपस के खून में मौजूद तांबा में ऑक्सीजन के प्रवाह कमजोर होता है।

advertisement
advertisementspot_img
advertisement
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

advertisement
advertisement
advertisement

Most Popular

Recent Comments

advertisement