Fire Safety in Hospitals PPT: आग न्यू बोर्न चाइल्ड हॉस्पिटल बिल्डिंग में 11.30 बजे लगी और फायर कंट्रोल रूम को रात करीब 11.35 बजे कॉल मिली। स्थित बच्चों के अस्पताल में शुक्रवार को आग लग गई। आग लगने के बाद दमकल की नौ गाड़ियों को मौके पर भेजा गया और दमकल अधिकारियों ने 20 नवजात बच्चों को आग से बचाया।

सभी नवजात बच्चों को अग्निशमन सेवा विभाग (Department of Fire Services) द्वारा बचाया गया और उन्हें पास के अस्पतालों में ट्रांसफर कर दिया गया।

Fire Safety in Hospitals PPT: अचानक इस अस्पताल में लगी आग, 20 नवजात बच्चों को किया गया रेस्क्यू

आग लगने का कारण स्पष्ट नहीं:

घटना के पीछे का कारण अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है। बता दें कि ये आग न्यू बोर्न चाइल्ड हॉस्पिटल बिल्डिंग (New Born Child Hospital building) में 11.30 बजे लगी और फायर कंट्रोल रूम को रात करीब 11.35 बजे कॉल मिली।

दिल्ली फायर सर्विस के निदेशक अतुल गर्ग (Delhi Fire Service Director Atul Garg) ने समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा, “हमें रात 11.35 बजे फोन आया कि एक अस्पताल में आग लग गई है। हमने पहले दमकल की चार गाड़ियां भेजीं। उन्होंने हमें बताया कि वहां 20 नवजात बच्चे हैं और गली पतली होने के कारण उन्हें कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। Fire Safety in Hospitals PPT हमने लगभग चार दमकलें और भेजीं। हम समय पर वहां पहुंचे और आग बुझ गई। सभी बच्चों को रेस्क्यू कर अलग-अलग अस्पतालों में भेज दिया गया। कोई भी घायल नहीं हुआ। अस्पताल के पास फायर एनओसी नहीं था और अस्पताल सिर्फ एक मंजिल का था। आगे की जांच की जाएगी।”

न्यू बोर्न चाइल्ड अस्पताल तीन मंजिला इमारत है और अस्पताल पहली मंजिल पर चलता है। आग बेसमेंट में लगी और बाद में अस्पताल की अन्य मंजिलों तक फैल गई। आग के कारण फर्नीचर, दस्तावेजों और एक दुकान को नुकसान पहुंचा।

बच्चों को अलग अस्पताल में शिफ्ट किया गया:

बता दें कि 20 नवजात बच्चों में से 13 नवजातों को जनकपुरी के आर्य अस्पताल (Arya Hospital in Janakpuri) में भर्ती किया गया वहीं दो बच्चों को द्वारका मोड़ New born Child Hospital ले जाया गया। जबकि दो नवजात बच्चों को जनकपुरी के जेके अस्पताल (JK hospital in Janakpuri) ले जाया गया और तीन अन्य को वैशाली के New born Child Hospital से छुट्टी दे दी गई।