Home Google News Chhattisgarh Jobs Trending Topics Today Raipur Web Stories

2 नाबालिग बहनों को अगवा कर दिया गैंगरेप को अंजाम, ये विधायक…

2 नाबालिग बहनों को अगवा कर दिया गैंगरेप को अंजाम, ये विधायक…

पुलिस के मुताबिक, एक बहन के साथ सामूहिक बलात्कार किया गया, जबकि दूसरी के साथ छेड़छाड़ हुई। एक पीड़िता ने आत्महत्या का प्रयास किया, हालांकि उसके परिवार के सदस्यों ने उसे समय पर बचा लिया।

मध्य प्रदेश के दतिया जिले में एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है। वहां बीजेपी के एक विधायक के बेटे और उसके चार सहपाठियों ने दो नाबालिग बहनों को कथित तौर पर एक कमरे में कैद कर लिया और दोनों का यौन उत्पीड़न किया। इस घटना के सामने आने के बाद राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने बीजेपी सरकार पर तीखा हमला बोला है।

पुलिस ने क्या जानकारी दी है

पुलिस के मुताबिक, एक बहन के साथ सामूहिक बलात्कार किया गया, जबकि दूसरी के साथ छेड़छाड़ की गई। एक पीड़िता ने आत्महत्या का भी प्रयास किया, हालांकि उसके परिवार के सदस्यों ने उसे समय पर बचा लिया। इस घटना से स्थानीय समुदाय में आक्रोश फैल गया और विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया। दतिया जिले के एसपी प्रदीप शर्मा ने बताया कि छोटी बहन, जिसकी उम्र 17 साल है, के बयान के आधार पर एफआईआर दर्ज कर ली गई है। घटना शुक्रवार को दतिया जिले के उन्नाव इलाके में हुई।

18 साल से कम उम्र के तीन आरोपियों पर आईपीसी की संबंधित धाराओं के तहत सामूहिक दुष्कर्म, गलत तरीके से कैद करना, छेड़छाड़ और यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण अधिनियम (पॉक्‍सो) के तहत मामला दर्ज किया गया है।शर्मा ने कहा,”चार में से तीन आरोपियों को पूछताछ के लिए पहले ही हिरासत में लिया गया है। हम कथित सामूहिक बलात्कार पीड़िता का बयान दर्ज करने के लिए उसकी हालत में सुधार होने का इंतजार कर रहे हैं”

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्र के जिले में हुई वारदात

सूत्रों ने आईएएनएस को बताया कि हिरासत में लिए गए तीन लड़कों में से एक कथित तौर पर बीजेपी विधायक का बेटा है। गौरतलब है कि दतिया मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का गृह जिला है। इस घटना के बाद राज्य कांग्रेस इकाई ने उनके खिलाफ तीखा हमला बोला है।

कांग्रेस मीडिया सेल के सदस्य पीयूष बबले ने ट्वीट किया, “बीजेपी नेताओं के नाम मध्य प्रदेश में सबसे जघन्य अपराधों से जुड़ रहे हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि यह जघन्य अपराध राज्य के गृहमंत्री के गृह जिले में हुआ, जिन्होंने इस मामले में पूरी तरह से चुप्पी साध रखी है।” 

Join WhatsAppJoin Telegram