Home Google News Chhattisgarh Jobs Trending Topics Today Raipur Web Stories

RAIPUR CRIME: देशभर में क्रिप्टो करेंसी के नाम पर करोड़ों की ठगी करने वाले दो अंतर्राज्यीय सदस्य गिरफ्तार

रायपुर – प्रार्थी संतोष कुमार साहू ने थाना आरंग में रिपोर्ट दर्ज कराया कि वह ग्राम गोईंदा पोस्ट छटेरा आरंग, रायपुर में रहता है। प्रार्थी को उसके परिचित एवं साथियों द्वारा युनिटी बाईट (क्रिप्टो करेंसी) कंपनी के संबंध में जानकारी दी गई। इस कंपनी से संबंधित जानकारी के लिये कम्पनी के मैनेजर बैंगलोर निवासी प्रकाश रेड्डी द्वारा रायपुर के लालबाग होटल में सेमीनार आयोजित किया गया था जिसमें इस कंपनी में निवेश करने पर निवेश की रकम 300 दिनों मेें तीन गुना करने का प्रलोभन दिया गया था। इस सेमीनार में शामिल कंपनी के एंजेंट एंड मैनेजमेंट टीम के प्रकाश रेड्डी, एस.भूपति, मुत्थू कुमार के द्वारा कंपनी के प्लान के बारे में बताया गया। प्रार्थी द्वारा झांसे में आकर कम्पनी के एम.डी आर.आर. रवि, सालंक काल्वेथ, मुत्थु कुमार, एस.भूपति एवं प्रकाश रेड्डी सहित अन्य एजेंटों के बैंक खाताओं में अलग-अलग तिथियों में कुल 14,00,000/- रूपये स्थानांतरित किया। कुछ दिनों पश्चात् रकम के संबंध में पूछताछ करने पर उक्त व्यक्तियों द्वारा प्रार्थी को गोल मोल जवाब देकर लगातार घुमाया जा रहा था। इस प्रकार उक्त कम्पनी के एम.डी, टीम मैनेजमेंट एवं एजेंटों द्वारा प्रार्थी से 14,00,000/- रूपये प्राप्त कर ठगी किया गया। जिस पर आरोपियों के विरूद्ध थाना आरंग में अपराध क्रमांक 31/2023 धारा 420, 34 भादवि. का अपराध पंजीबद्ध किया गया।

लाखों रूपये की ठगी की घटना को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल द्वारा गंभीरता से लेते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर/अपराध अभिषेक माहेश्वरी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण कीर्तन राठौर, नगर पुलिस अधीक्षक माना सुश्री कल्पना वर्मा, उप पुलिस अधीक्षक क्राईम दिनेश सिन्हा, थाना प्रभारी आरंग तथा प्रभारी एण्टी क्राईम एण्ड साईबर यूनिट को आरोपियों की पतासाजी कर जल्द से जल्द गिरफ्तार करने हेतु निर्देशित किया गया। वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में एण्टी क्राईम एण्ड साईबर यूनिट तथा थाना आरंग पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा घटना के संबंध में प्रार्थी से विस्तृत पूछताछ कर आरोपियों की पतासाजी करना प्रारंभ किया गया। प्रार्थी द्वारा जिन बैंक खाताओं में रकम स्थानांतरण किये गये थे उनके भी संबंध में जानकारी एकत्र करने के साथ ही प्रार्थी तथा उक्त कंपनी के एम.डी एवं एजेंटों द्वारा जिन मोबाईल फोन नम्बरों से बात की गई थी उनका तकनीकी विश्लेषण कर आरोपियों को लोकेट करने के प्रयास किये जा रहे थे। इसी दौरान टीम के सदस्यों द्वारा घटना में संलिप्त आरोपी प्रकाश रेड्डी एवं एस.भूपति को कर्नाटक एवं तमिलनाडू में लोकेट किया गया। जिस पर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में एण्टी क्राईम एण्ड साईबर यूनिट तथा थाना आरंग पुलिस की 05 सदस्यीय टीम को कर्नाटक एवं तमिलनाडू रवाना किया गया। टीम के सदस्यों द्वारा कर्नाटक एवं तमिलनाडू पहुंच कर कैम्प कर लगातार आरोपियों की पतासाजी करते हुए आरोपी प्रकाश रेड्डी को बैंगलोर कर्नाटक तथा आरोपी एस.भूपति को सेलम तमिलनाडू से गिरफ्तार किया गया।

पूछताछ में आरोपियों द्वारा अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर प्रार्थी के साथ ठगी की उक्त घटना को कारित करने के अलावा युनिटी बाईट (क्रिप्टो करेंसी) कंपनी के नाम से देश भर में लोगों को रकम 300 दिनों में तीन गुना करने का प्रलोभन देकर लोगो से करोड़ों रूपये की ठगी करना भी बताया गया है। दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर ट्रांजिस्ट रिमाण्ड पर रायपुर लाया गया है। आरोपी प्रकाश रेड्डी के कब्जे से घटना से संबंधित 01 नग मोबाईल फोन जप्त कर आरोपी का पुलिस रिमाण्ड लेकर घटना में संलिप्त अन्य आरोपियों तथा अन्य घटनाओं के संबंध में विस्तृत पूछताछ किया जा रहा है। घटना में संलिप्त अन्य आरोपी फरार है, जिनकी लगातार पतासाजी कर गिरफ्तार करने के हर संभव प्रयास किये जा रहें है।

गिरफ्तार आरोपी

01. प्रकाश रेड्डी पिता वेंकट रमना रेड्डी उम्र 47 साल निवासी म.नं. 314 मोनेको पर्ल अपार्टमेन्ट 19 आर.क्राॅस भूनेश्वरी नगर थाना अमरूधहाल्ली जिला बेंगलूरू नार्थ कर्नाटक।

02. एस.भूपति पिता सुन्दरामूर्ति उम्र 38 साल निवासी हाउस नं 830 जयकृष्णा गार्डन अईय्यन नगर थाना कन्नाकुरूच जिला सेलम तमिलनाडू।

Join WhatsAppJoin Telegram