Home Google News Chhattisgarh Jobs Trending Topics Today Raipur Web Stories

RAIPUR:भूमाफिया की जालसाजी, पूर्व IAS अधिकारी को बनाया अपना निशाना

रायपुर-सिविल लाइन थाना में पूर्व आईएएस अधिकारी टी राधाकृष्णन ने लाखों रूपए की धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज कराई है. शिकायत के मुताबिक प्रत्यूष सिंह, लक्ष्मण सिंह, अरूण सिंह, वृंदा देवी समेत अन्य आरोपियों ने राधाकृष्णन की हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी धरमपुरा स्थित प्लांट नंबर 173 को 24 लाख 32500 रुपये में बेच दिया. इसे 14 दिसंबर 2022 को प्रोफेसर कालोनी निवासी शिव पटेल,कचरू पटेल को बेच दिया.

इसकी उप पंजीयक कार्यालय रायपुर में उस दिन शाम 5.55 बजे रजिस्ट्री भी करा दी. प्रत्यूष सिंह और अन्य आरोपियों ने 34,9971 रुपये देकर शेष रकम डकार ली. इस पर शिव पटेल की रिपोर्ट पर पुलिस ने धारा 420,34 का अपराध दर्ज किया है. सभी आरोपी पकड़ से बाहर हैं. अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि जमीन की बिक्री राधाकृष्णन की सहमति से की गई या माफिया ने बेच दिया.

भूमाफिया से परेशान किसान आत्महत्या करने को मजबूर: राजधानी रायपुर में भूमाफियाओं की जमकर गुंडागर्दी देखी जा रही है. सड्डू ग्राम में पटवारी नक्शे में गड़बड़ी का मामला जिलाधीश न्यायालय में विचाराधीन है. इसके बाद भी भूमाफिया किसान को धमका रहे हैं. जिससे परेशान होकर अब किसान आत्महत्या करने मजबूर हो चुका है. किसान का आरोप है कि आरोपी सग्गू ने ग्राम सड्डू के पटवारी नक्शे में छेड़छाड़ और कूटरचना कराई थी.

एक्शन में नजर आए ऑफिसर्स, पीड़ित ने सुनाई आपबीती: कलेक्टर ने आरआई और पटवारी को एक दल बनाकर इस केस की जांच करने को कहा. जिसके प्रतिवेदन में उस जमीन को लेकर फर्जीवाड़े की बात सामने आई. पीड़ित ने बताया कि इस केस में भू माफिया के लोग जमीन पर जबरन कब्जा करने की कोशिश कर रहे हैं. इसकी शिकायत एसएसपी से की गई. लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो रही.

क्या कहते हैं अफसर: सिविल लाइन सीएसपी वीरेंद्र चतुर्वेदी ने बताया कि ” शिव पटेल नामक व्यक्ति ने राधाकृष्ण की लिखित शिकायत थाने में दी है. शिकायत के आधार पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर लिया है. पुलिस मामले की जांच कर रही है. यह भी देखा जाएगा कि जमीन की बिक्री क्या राधाकृष्ण जी की सहमति से हुई है. पुलिस हर बिंदु की जांच कर कार्रवाई करेगी.”

Join WhatsAppJoin Telegram