Home Google News Chhattisgarh Jobs Trending Topics Today Raipur Web Stories

Shocking News: कोविड-19 भारत में वापसी आ गई, 88 नये मामले की हाल ही में हुई पुष्टि

Shocking News: कोविड-19 भारत में वापसी आ गई, 88 नये मामले की हाल ही में हुई पुष्टि

Covid-19 Spread : भारत में कोरोना के 88 नए मामले सामने आए हैं. देश भर में फिलहाल 396 मरीजों का इलाज चल रहा है जबकि मरने वालों की संख्या 5 लाख 33 हजार 300 है. बड़ी संख्या में लोग स्वस्थ भी हुए हैं.

Covid-19 Infection In India: दुनिया भर में हजारों लोगों को मौत को नींद सुला चुकी कोरोना महामारी अभी भी चिंता का सबब बनी हुई है. सर्दी की शुरुआत के साथ ही भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के 88 नए मामले सामने आए हैं. इससे बाद‌ संक्रमण के बढ़ते मामलों ने एक बार फिर चिंता की लकीरें खींच दी हैं.

न्यूज एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक नए मरीजों की संख्या बढ़ने के‌ साथ ही देश में अब अलग-अलग अस्पतालों में इलाज करा रहे कोविड मरीजों की संख्या बढ़कर 396 हो गई है. 

क्या कहते हैं सरकारी आंकड़े
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शनिवार (2 दिसंबर) सुबह आठ बजे अपडेट किए गए आंकड़ों के अनुसार, देश में कोविड-19 से जान गंवाने वाले लोगों की कुल संख्या 5 लाख 33 हजार 300 है. जबकि कोरोना वायरस से संक्रमित होने वालों की कुल संख्या 4 करोड़ 50 लाख 2 हजार 103 है. स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक, संक्रमण से उबरने वाले लोगों की संख्या भी तेजी से बढ़ी है. कुल 4 करोड़ 44 लाख 68 हजार 407 लोग स्वस्थ होकर घर लौटे हैं.

तेजी से ठीक हो रहे हैं लोग
हालांकि राहत वाली बात यह है कि कोरोना से संक्रमित मरीज तेजी से रिकवर भी हो रहे हैं. रिपोर्ट के मुताबिक देश में संक्रमण से ठीक होने की दर 98.81 प्रतिशत रही है जो संतोषजन है. जबकि मृत्यु दर 1.19 प्रतिशत है. वेबसाइट के अनुसार, भारत में अब तक कोविड-19 रोधी टीकों की कुल 220.67 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं.

आपको बता दें कि कोरोना के बाद चीन में एक रहस्यमयी निमोनिया संक्रमण फैला हुआ है जिसे‌ लेकर केंद्र ने पहले ही अलर्ट जारी किया है. इस बीच कोरोना के नए मामले में बढ़ोतरी की वजह से देश में एक बार फिर चिंता बढ़ने लगी है.

WHO ने दी है नए वेरिएंट पर रिपोर्ट

आपको बता दें कि अमेरिका सहित दुनिया भर में कोरोना के नए वेरिएंट सीडीसी ने BA.2.86 को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की ओर से भी एक रिपोर्ट जारी की गई है. डब्ल्यूएचओ ने BA.2.86 को किसी दूसरे वेरिएंट की तुलना में कम जोखिम पैदा करने वाला वेरिएंट बताया है. संगठन ने कहा है कि ये वेरिएंट व्यापक नुकसान नहीं कर सकते हैं इसलिए इनसे कोई खतरा नहीं है. इसका संक्रमण अमेरिका में बढ़ा है.

Join WhatsAppJoin Telegram