Home Google News Chhattisgarh Jobs Trending Topics Today Raipur Web Stories

oyo होटल मे मेहमानों का अश्लील वीडियो बना ब्लैकमेलिंग का मामला सामने आया, आरोपी से मिले हुए थे होटल के 3 कर्मचारी,वारदात को ऐसे देते थे अंजाम

एक ओयो होटल में आने वाले मेहमानों के अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेलिंग करने का मामला सामने आया. द्वारका में ‘द ग्रेट इन’ होटल में गेस्ट के अश्लील वीडियो बनाकर उनसे पैसे एेंठने का काम किया जाता था.

इस मामले में पुलिस ने होटल के तीन कर्मियों समेत फर्जी सिम उपलब्ध करवाने वाले एक युवक को पकड़ा है. फर्जी आईडी से ली गई सिम के जरिए आरोपी इंस्टाग्राम पर प्रोफाइल बनाकर उस पर पीड़ितों के वीडियो भेजकर ब्लैकमेल किया करते थे. आरोपियों के मोबाइल को फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया गया है. ताकि यह पता किया जा सके कि उन्होंने कितने ऐसे वीडियो रिकॉर्ड किए हैं.

डीसीपी एम. हर्षवर्धन ने बताया कि द्वारका साइबर थाना पुलिस को एक पीड़ित की ओर से दी गई शिकायत में बताया कि वह अपनी महिला दोस्त के साथ द्वारका के ग्रेट इन होटल में गया था. इसके बाद उसे और उसकी दोस्त को 19 जनवरी को अज्ञात इंस्टाग्राम आईडी से उनका अश्लील वीडियो मिला. आरोपियों ने पांच लाख नहीं देने पर वीडियो को वायरल करने की धमकी दी. शिकायत के आधार पर मामला दर्ज कर एसीपी ऑपेरशन राम अवतार की देख-रेख में साइबर थाने के एसएचओ जगदीश कुमार के नेतृत्व में गठित की गई. टीम को जांच और आरोपियों की पकड़ के लिए लगाया गया था.

डीसीपी एम. हर्षवर्धन ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों की पहचान, विजय कुमार, अंकुर, दिनेश और आरोपियों को फर्जी आईडी पर सिम देने वाले दीपक कुमार के रूप में हुई है. ये सभी यूपी के हापुड़ जिले के रहने वाले हैं. इनके कब्जे से सिम कार्ड सहित पांच मोबाइल फोन, ग्रेट इन होटल के डीवीआर की हार्ड डिस्क, जिओ के 54 ब्लैंक सिम कार्ड और एक बॉयोमेट्रिक मशीन बरामद की गई है.

हापुड़ के रहने वाले आरोपी तक पहुंची पुलिस

पुलिस ने कथित इंस्टाग्राम आईडी का विश्लेषण कर उससे संबंधित मोबाइल नंबर का पता लगाया. इसके बाद पुलिस उस मोबाइल नंबर के रजिस्टर्ड एड्रेस पर पहुंची, जहां उन्हें एड्रेस के फर्जी होने का पता चला. फिर पुलिस ने टेक्निकल सर्विलांस और आईएमईआई नंबर की सहायता से यूपी के हापुड़ में विजय कुमार तक पहुंची. उसने सिम इस्तेमाल करने की बात स्वीकारी, लेकिन इंस्टाग्राम आईडी के बारे में उसने कुछ भी नहीं बताया. ऐसे में पुलिस ने उसे और उसके सहयोगियों अंकुर और दिनेश को पूछताछ के लिए बुलाया.

विजय ने बताया कि वह पेशे से फार्मासिस्ट था. हालांकि, 2022 में उसने होटल में नौकरी कर ली. इसके बाद उसने अपने साथी अंकुर और दिनेश को भी होटल में नौकरी दिलवा दी. लेकिन वो मिलने वाली सैलरी से खुश नहीं थे, इसलिए उन्होंने अधिक पैसे कमाने के लिए गेस्ट का वीडियो बनाकर उन्हें ब्लैकमेल कर उगाही करने की योजना बनाई. आरोपियों ने बताया कि होटल के कमरों में लकड़ी की दीवार बनी हुई है. लकड़ी की प्लाई में बिजली के बटन के पास छेद होता था. उससे ये मोबाइल से वीडियो बना लेते थे

आरोपी विजय ने अगस्त, 2022 में नौकरी छोड़ दी थी. इसके बाद अंकुर और दिनेश वीडियो बनाते रहे. फिर इस साल जनवरी महीने में उन्होंने इंस्टाग्राम पर फेक आईडी बनाकर गेस्ट को ब्लैकमेल करना शुरू किया. आईडी बनाने के लिए हापुड़ का ही दीपक कुमार उन्हें सिम उपलब्ध करवाता था. विजय की निशानदेही पर पुलिस ने उसे भी दबोच लिया. आरोपियों ने अब तक तीन मेहमानों की अश्लील वीडियो बनाने की बात स्वीकार की है. इस मामले में पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार कर आगे की जांच में जुट गई है.

Join WhatsAppJoin Telegram