Home Google News Chhattisgarh Jobs Trending Topics Today Raipur Web Stories

जांच में उर्वरक की गुणवत्ता फेल, बिक्री के लिए प्रतिबंधित..

सक्ती :– जिले में खाद बीज दवा दुकानों का निरन्तर जांच किया जा रहा है, कालाबाजारी व अनियमितता करने वाले पर कार्रवाई भी की जा रही है। किसी भी किसान को गुणवत्ता हीन आदान न मिले इसके लिए नमूना लेकर जांच भी कराये जा रहें हैं।
कलेक्टर सक्ती श्रीमती नुपुर राशि पन्ना के द्वारा गुणवत्ताहीन खाद बीज विक्रेता पर सख्ती से कार्रवाई किए जाने का निर्देश दिया गया है। कलेक्टर ने कहा कि किसानों को मानक गुणवत्ता का खाद बीज मिले, यह सुनिश्चित कर लिया जावे। कृषि विभाग के निरीक्षकों के द्वारा दुकानों का निरीक्षण किया जा रहा है तथा जांच के लिए नमूना लिया जा रहा है। जांच में अभी तक सिंगल सुपर फास्फेट के 3 नमूना अमानक स्तर का पाया गया है।
डबल लाक डभरा से ओसवाल लिमिटेड उत्पादित 5 टन जिंकेड सुपरफास्फेट तथा अरिहंत फर्टिलाइजर एंड केमिकल्स लिमिटेड उत्पादित 50 टन जिंकेड सुपरफास्फेट अमानक स्तर का पाया गया है। इसी प्रकार निजी विक्रेता ओम टेडर्स मल्दा जैजैपुर से बीईसी फर्टिलाइजर उत्पादित 25 टन सिंगल सुपर फास्फेट अमानक पाया गया है। अमानक पाये गये सभी खाद को बिक्री के प्रतिबंधित कर दिया गया है।
उप संचालक कृषि शशांक शिंदे सक्ती ने बताया कि किसी भी किसान को गुणवत्ता हीन खाद ना मिले, इसके लिए खाद का नमूना लेकर जांच कराया जा रहा है। अमानक पाये जाने पर विक्रेता और उत्पादक दोनों पर कार्रवाई की जायेगी।

Join WhatsAppJoin Telegram